इस राष्ट्रपतिने कुत्ते की 50 फिट उची सोने की मूर्ति बनवाई, वजह जानकर हैरान।

न्यूज़

आपने देखा होगा कि लोग अपने घरों में कई तरह की मूर्तियां रखते हैं, जिनमें से कुछ जानवरों की भी होती हैं। कुछ शेर की छवि रखते हैं और कुछ घोड़े की मूर्ति रखते हैं। लेकिन कुत्तों की मूर्ति शायद ही कहीं देखने को मिले। तुर्कमेनिस्तान के राष्ट्रपति ने सोने से बनी कुत्ते की 50 फुट ऊंची प्रतिमा बनाई है, जिसके पीछे का कारण भी बहुत खास है। गुरबांगुल बेरमदुखमेदोव, जिन्होंने तुर्कमेनिस्तान की सत्ता पर कब्जा किया था, ने राजधानी अगाबात के नए क्षेत्र में इस प्रतिमा का निर्माण किया था।

2007 के बाद से शासन कर रहे गुरबंगुल बर्ध्यामुखमेडोव ने पिछले साल इस कुत्ते की विशाल प्रतिमा का अनावरण किया। बता दें कि बर्दमीखामेदोव को एलबी का कुत्ता पसंद है। कुत्ते की यह प्रजाति देश में ही उत्पन्न होती है और इसे तुर्कमेनिस्तान की राष्ट्रीय पहचान का हिस्सा माना जाता है।

इस कुत्ते की 50 फुट ऊंची प्रतिमा पर 24 कैरेट सोने की परत चढ़ी हुई है। सरकारी अधिकारियों के रहने के लिए इस कुत्ते की मूर्ति को अश्गाबात के क्षेत्र में बनाया गया है। इस क्षेत्र में कई संगमरमर की इमारतें, स्कूल, खेल मैदान, सिनेमा हॉल, पार्क और दुकानें हैं।

इतना ही नहीं, गुरबंगुल बेरदमुख्मेदोव ने कुत्तों की इस प्रजाति को समर्पित कई किताबें और कविताएं लिखी हैं। वह इस कुत्ते को उपलब्धि और जीत का प्रतीक मानते हैं। एक बार बर्दमुखमेदोव ने इस प्रजाति के एक कुत्ते को रूस के राष्ट्रपति को उपहार के रूप में दिया था।

एक तरफ, तुर्कमेनिस्तान के शासक ने कुत्ते की मूर्ति पाने के लिए इतने पैसे खर्च किए, दूसरी तरफ देश के लोग गरीबी में जीने को मजबूर हैं। यद्यपि तेल और प्राकृतिक गैस के कारण देश की अर्थव्यवस्था तेजी से बढ़ रही है, लेकिन केवल अमीर ही इससे लाभान्वित हो रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *